सोचिए, संसद सत्र के पहले दिन 17 सांसद निकले कोरोना संक्रमित

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र के पहले दिन ही 17 सांसद कोरोना संक्रमित (Coronavirus) पाए गए। एक अन्य जानकारी के अनुसार संक्रमित सांसदों की संख्‍या 24 है। जानकारी के अनुसार जिन 17 सांसदों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें भाजपा सांसद मीनाक्षी, लेखी प्रवेश साहिबसिंह वर्मा और अंनत कुमार हेगड़े भी शामिल हैं।

खबरों के मुताबिक प्रवेश साहिब सिंह, सुखबीर सिंह, हनुमान बेनीवाल, सुकान्त मजूमदार, गोदेती माधवी, प्रताप राव जाधव, जर्नादन सिंह, ‍िबद्युत बनर महतो, प्रदान बरुआ, एन रेडडप्पा, सेलवम जी, प्रतापराव पाटिल, रामशंकर कथेरिया, सत्यपाल सिंह, रोडमल नागर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। दूसरी ओर, कोरोना के कारण लोकसभा में मानसून सत्र के पहले दिन का नजारा बहुत कुछ बदला हुआ नजर आया।

सदस्यों की बैठने की जगह बदली हुई थी और एक सदस्य से दूसरे के बीच काफी फासला होने के साथ ही शीशा लगाया गया है। आगे की जिन सीटों पर दो सदस्य बैठते थे, वहां एक के ही बैठने की व्यवस्था की गई है। सीट के पीछे नंबर लिखा है और जिस सीट पर नंबर पट्टी चिपकी है, वहीं सदस्य को बैठना है।

डर दिखाकर नाबालिग से तांत्रिक मौलवी ने किया दुष्कर्म, गिरफ्तार

5 मिनट पहले पहुंचे मोदी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यवाही शुरू होने से पांच मिनट पहले ही सदन में पहुंच गए थे। उनके बगल में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के बैठने की जगह होती है, लेकिन इस बार सिंह को एक सीट छोड़कर गृहमंत्री अमित शाह की सीट पर बिठाया गया।

आगे की सीट पर शिक्षामंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और उनकी बगल में सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर बैठे, लेकिन जावड़ेकर को सोशल डिस्टेंस का एहसास हुआ तो वह तुरंत पीछे की सीट पर चले गए। बाद में एक और मंत्री उनकी जगह पर आकर बैठ गए। जदयू के नेता राजीव रंजन सिंह के बगल में एक बड़े मंत्री महोदय आकर बैठक बैठ गए।

विशेष: यदि आपकी ‘हिन्‍दी’ स्ट्रांग है तो रोजगार की ये 6 बड़ी संभावनाएं हैं

सीटों को लेकर रहा असमंजस : मंत्री आगे की सीटों पर बैठने में दूरी का पालन करते हुए कम ही नजर आए। सदस्यों के बीच निश्चित दूरी रही, लेकिन कई सदस्य बाद तक अपनी सीटों को खोजते नजर आए। आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के असदुद्दीन ओवैसी तो कई सीटों पर बैठे लेकिन उन्हें बार-बार उठाया गया। इसी तरह से बसपा के रीतेश पांडे ने अपने लिए निर्धारित सीट से एक सदस्य को उठने के लिए कहा।

लोकसभा की दर्शक दीर्घा में कई सदस्यों के लिए बैठने की व्यवस्था की गई थी। दर्शक दीर्घा में सदन की कार्यवाही देखने के लिए बनी वीआईपी दीर्घा, विदेशी मेहमानों के लिए बनी दीर्घा तथा अन्य में भी सदस्यों के बैठने की जगह थी। कुछ सदस्यों को राज्यसभा में बिठाया गया था। प्रेस दीर्घा में सिर्फ पत्रकारों के लिए ही बैठने की जगह थी, लेकिन दो पत्रकारों के बीच चार से पांच सीटों का अंतर रखा गया। (एजेंसियां)

कन्या, मकर मिथुन और कुंभ के लिए ये सप्ताह ला रहा बेहतरीन समय


News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close Bitnami banner
Bitnami