इस मौसम में स्वस्थ और तंदुरूस्त रहना है तो पिएं टमाटर सूप, होंगे गजब के फायदे

webmorcha.com
टमाटर सूप फाइल फोटो

इस मौसम खासकर ठंड में शरीर को हेल्दी (Healthy body in cold) और स्वस्थ रखने की सलाह (Healthy advice) हर कोई देता है। इस मौसम में होने वाली लाल-लाल स्वादिष्ट टमाटर सब्जियों का अहम हिस्सा (Tomato Vegetables) है। कच्चे टमाटर के अलावा उनका सूप भी बहुत ही स्वादिष्ट और पौष्टिक होता है। आमतौर पर खाने से पहले स्टार्टर के तौर पर लिए जाने वाले टमाटर सूप में विटामिन A,E,C,K और एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं। जो आपको हेल्दी और फिट रखने में मदद करते हैं।

यहां पढ़ें: वृष, मिथुन, सिंह, कन्या, तुला एवं वृच्चिक के जातकों के लिए गोल्डन समय

आइए, जानते हैं टमाटर सूप पीने से सेहत को मिलने वाले गजब के फायदे –

1 हड्डियों के लिए फायदेमंद –

टमाटर सूप में विटामिन K (Vitamin K in Tomato Soup) और केल्शियम होता है जो हड्डियों को मजबूत रखता है। इसके अलावा शरीर में लाइकोपीन की कमी होने से भी हड्डियों पर तनाव बढ़ता है और टमाटर में काफी मात्रा में लाइकोपीन होता है, जो हड्डियों के लिए अच्छा होता है।

2 दिमाग को रखें दुरुस्त –

टमाटर सूप में भरपूर मात्रा में कॉपर और पोटेशियम पाया जाता है, जिससे नर्वस सिस्टम ठीक रहता है और दिमाग को मजबूती मिलती है।

3 विटामिन की कमी करे पूरी –

टमाटर सूप में विटामिन A और C अच्छी मात्रा (A good amount of vitamins A and C in tomato soup) में होता है। विटामिन A, टिशू के विकास के लिए जरूरी होता है। कहते है कि शरीर में रोजाना 16% विटामिन A और 20% विटामिन C की जरूरत होती है और टमाटर सूप इसकी जरूरत को पूरा करता है।

4 वजन करे कम –

टमाटर सूप को अगर ऑलिव ऑयल से बनाया जाए तो यह वजन घटाने में सहायक होता है, क्योंकि इसमें पानी और फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है, जिससे आपको काफी समय तक भूख नहीं लगती।

5 कैंसर का खतरा करे कम –

टमाटर सूप में लाइकोपीन और कैरोटोनॉयड जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट (Anti-oxidants like lycopene and carotonoid in tomato soup) होते हैं, जिससे कैंसर की आशंका कम हो जाती है।

6 ब्ल्ड शुगर को करे नियंत्रण –

डायबिटीज के मरीजों को डाइट में टमाटर सूप जरूर लेना चाहिए। इसमें क्रोमियम होता है, जो ब्ल्ड शुगर को नियंत्रण में रखने में सहायक होता है।

7 रक्त प्रवाह को बढ़ाएं –

टमाटर में सेलेनियम होता है, जो रक्त प्रवाह को बढ़ाता है जिससे एनिमिया का खतरा कम हो जाता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here