MP: दिग्विजय के वायरल ऑडियो पर बवाल, सपा के उम्मीदवार से सौदेबाजी करते दे रहे सुनाई

वायरल ऑडियो में दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) सपा उम्मीदवार से कह रहे हैं कि अगर वह अपनी उम्मीदवारी छोड़ देते हैं तो कांग्रेस पार्टी की तरफ से उन्हें नगर निगम चुनाव में पार्षद का टिकट दे दिया जाएगा.

webmorcha.com
दिग्विजय सिंह (फाइल फोटो) - फोटो : PTI

भोपाल: 29 अक्टूबर 2020/ MP में हो रहे विधानसभा के उप-चुनाव में नेताओं के वीडियो और ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. अब नया ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसे कथित तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) का बताया जा रहा है. इस ऑडियो की वेबमोर्चा पुष्टि नहीं करता है.

वायरल हो रहे ऑडियो में कथित तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) और ग्वालियर से सपा के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे रोशन मिर्जा से बातचीत का है. इसमें मिर्जा के चुनाव लड़ने का फायदा भाजपा को होने की बात पूर्व मुख्यमंत्री (Digvijay Singh)  द्वारा कही जा रही है. साथ ही दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) की ओर से मिर्जा को यह भरोसा दिलाया जा रहा है कि उम्मीदवारी वापस ले लें तो कांग्रेस पार्टी उनका सहयोग करेगी.

यहां पढ़ें: मेष, वृष, सिंह, मकर और मीन के गोल्डन समय, कन्या वृच्चिक रहे अलर्ट

रोशन मिर्जा ग्वालियर विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार हैं. बातचीत का यह वायरल ऑडियो समाजवादी पार्टी के प्रमुख नेताओं तक भेजा गया है, इसके अलावा पार्टी इस बात पर मंथन कर रही है कि आगे किस तरह के कदम बढ़ाए जाएं. हो सकता है कि सपा इस ऑडियो को लेकर चुनाव आयोग भी जाए.

(Digvijay Singh) दिग्विजय पर कर्मचारियों को धमकाने का भी आरोप

वहीं भाजपा ने कांग्रेस पर कर्मचारियों को धमकाने का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से की है. पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh)  द्वारा सरकारी अधिकारियों और चुनाव आयोग पर दबाव बनाकर शासकीय कार्य में बाधा पैदा करने की शिकायत की है. साथ ही कांग्रेस नेताओं द्वारा सरकारी कर्मचारियों पर अपमानजनक टिप्पणी करने की शिकायत करते हुए कमलनाथ और दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के चुनाव प्रचार पर रोक लगाने की मांग भी की.

यहां पढ़ें: खुलासा: भारत अटैक करने वाला है’ सुनकर PAK सेना प्रमुख के कांपने लगे थे पैर, तब हुई थी अभिनंदन की रिहाई

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा का कहना है कि कांग्रेस पार्टी को न न्यायालय पर भरोसा है, न चुनाव आयोग पर. संवैधानिक संस्थाओं का अपमान करना कांग्रेस की पुरानी आदत रही है. कमलनाथ और दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने जिस तरह से प्रदेश के अधिकारी-कर्मचारियों को धमकाया है, जिस तरह से मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी पर दबाव बनाने का प्रयास किया है, यह एक आपराधिक कृत्य है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here