रेल प्रशासन ने बागबाहरा को फिर दिया धोखा, मांग के बाद स्टापेज नहीं

बागबाहरा। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले रेल प्रशासन द्वारा देश के विभिन्न स्टेशनों में ट्रेनों के स्टापेज की स्वीकृति दी है, जिसके अंतर्गत छत्तीसगढ़ के 20 कस्बो में 13 ट्रेनों का स्टापेज दिया गया है। लेकिन बागबाहरा स्टेशन को एक भी ट्रेन का स्टापेज नहीं दिया गया है।-ट्रेन स्टापेज के लिए सतत प्रयास करने तथा रेल समस्याओं के लिए आवाज उठाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता विश्वनाथ पाणिग्राही ने रेलवे के इस पक्षपात पूर्ण निर्णय पर अपनी प्रतिक्रिया ब्यक्त करते हए क्षोभ प्रकट करते हुए कहा कि यह बागबाहरा के साथ धोखा है।

यहां पढ़ें : http://सावधान : हो रहा मौसम परिवर्तन, चुस्त-दुरस्त रहने यह उपाय अपनाएं

निरंतर आश्वासनों के बावजूद रेल प्रशाशन ने बागबाहरा अंचल के रेल उपभोक्ताओं को फिर एक बार निराश किया है। पाणिग्राही ने कहा कि 8 एक्सप्रेस ट्रेनों के स्टापेज की बागबाहरा क्षेत्रवासियो की बहुत पुरानी मांग है। इस संबंध में बागबाहरा के अनेक लोगों ने ब्यवसायियों ने संगठनों ने हमेशा मांग की है।

यहां पढ़ें : http://होंडा Grazia 2019 भारत में लॉन्च, जानिए कीमत और फीचर्स

मैने हाल ही में 4 फरवरी को बागबाहरा के आर्थिक, राजनीतिक, ब्यवसायिक, भौगोलिक परिदृश्य सहित बागबाहरा रेलवे स्टेशन के रेलवे के आर्थिक राजस्व में भी महत्वपूर्ण योगदान को रेखांकित करते हुए 8 एक्सप्रेस ट्रेनों के बागबाहरा स्टापेज के संबंध में रेल मंत्री पीयूष गोयल को ट्वीट किया था साथ ही विस्तृत पत्र लिखा था।लेकिन ताजा निर्णय के अनुसार रेलवे ने बागबाहरा ही नही पूरे महासमुंद जिले , महासमुंद लोकसभा क्षेत्र की भरपूर उपेक्षा की है। रेल प्रशाशन से हमारी मांग है, अपने निर्णय पर पुनः विचार करते हुए बागबाहरा में ट्रेन स्टापेज के लिए विशेष से आदेश जारी करें।

जुडिए हमसे…

https://www.facebook.com/webmorcha/
https://twitter.com/
www.webmorcha.com
https://www.youtube.com
https://www.instagram.com/webmorcha

https://plus.google.com/people

whatsapp 9617341438

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *