सावधान ! पड़ोसी जिले में फैला है पीलिया, खान-पान और रहन-सहन में बरते सतर्कता, नहीं तो हो जाएंगे बीमार

महासमुंद। स्वास्थ्य विभाग महासमुंद ने प्रेस नोट जारी कर लोगों को आगह किया है, राजधानी रायपुर एवं दुर्ग जिले के क्षेत्र में पीलिया के प्रकोप से काफी लोग संक्रमिक हो रहे हैं। ऐसे में पीलिया के बारे में जानना एवं उससे बचने के उपाय करने से पीलिया पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

जाने क्या है पीलिया और कैसे फैलता है:यह भी जानिए

पीलिया मुख्य रूप से व्यक्तिगत संपर्क जैसे भीड़ वाले स्थानों में, भीड भरे लोगों के साथ यात्रा करने, दूषित पेयजल एवं भोजन के सेवन करने, खाने के पूर्व एवं शौच के पश्चात साबुन से हाथ नही धोने, कीट पतंगों के डंग आदि कारणों से मुख्य रूप से पीलिया फैलता है, ऐसे ही हेपेटाईटिस बी (बड़ा पीलिया) नामक रोग जो बिना जाँच किए हुए रक्त चढाने से दूषित रक्त जैसे प्लाज्मा, डायलिसिस, शल्य क्रिया से, गोदना, संक्रमित शेविंग (ब्लेड/उस्तरा), संक्रमित सुई एवं सीरिन्ज से फैलता है जिससे उचित उपचार नहीं मिलने पर पीडित की मौत भी हो सकती है ।
पीलिया से रोकथाम एवं उपाय :
-खाद्य पदार्थो को हमेशा ढक कर रखें ।
– ताजा भोजन का सेवन करें ।
– शुद्ध पेयजल का उपयोग करे जिसमें उबला हुआ पानी का सेवन ज्यादा कारगर है।
– भोजन करने से पूर्व एवं शौच के पश्चात साबुन से हाथ धोना चाहिए।
स्वास्थ्य विभाग ने नागरिकों से अपील किया है कि पीलिया के बारे में जाने, लक्षण पता चलने पर तत्काल खून एवं पेशाब की जांच करावे, पीलिया की पुष्टि होने पर तत्काल चिकित्सकों से संपर्क करें एवं पीलिया से रोकथाम के उपायों का पालन करें ताकि पीलिया से बचा जा सके।
यह भी जानिए:
0 दस्त में आपको बार-बार शौच जाना पड़ता है या आपका मल ढीला और तरल होता है दस्त ज्यादातर 2 से 3 दिन तक रहते हैं । यदि ये इससे अधिक समय तक रहें, तो यह अन्य समस्याओं की निशानी हो सकते हैं। यदि आपके दस्त 3 दिन से ठीक नहीं होते या आप की तबीयत और खराब हो जाती है, तो अपने चिकित्सक से मिलिए । यदि शिशुओं और बच्चो को 1 से अधिक दिन दस्त रहते हैं, तो चिकित्सक से मिलिए व परामर्श ले।
दस्त होते ही तुरंत घरेलू उपचार आरंभ करे:
0 नारियल का पानी, नमकीन लस्सी, नींबू की शिकंजी, चावल का मांड
हल्की चाय, दाल का पानी आदि शरीर में पानी की कमी नही होने देते है । इनका सेवन लगातार करते रहें ।
बचाव के उपाय:http://यह भी पढ़िए
0 खाने- पीने की वस्तुओं और पानी को ढंककर रखें ।
0 बासी भोजन सड़े -गले फलों का सेवन न करें व हमेशा ताजा भोजन करें।
0 दस्त होने पर ओर.आर.एस. (जीवन रक्षक घोल) बनाकर थोड़ी- थोड़ी देर में पीते रहे।
0 पानी को उबालकर या क्लोरीन की गोली डालकर ही पीने के लिए उपयोग में लाये।
0 भोजन से पूर्व और शौच के बाद हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोयें।
0 पानी को शुद्व रखने के लिए क्लोरीन की गोलियों का उपयोग करें।http://शेयर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here