महामारी की मार से देश का Luxury Car बाजार 5 से 7 साल पीछे हुआ: Audi

webmorcha.com

Corona वायरस महामारी की वजह से देश का Luxury या महंगी कारों का बाजार पांच से सात साल पीछे चला गया है। जर्मनी की वाहन क्षेत्र की कंपनी Audi के एक शीर्ष अधिकारी ने यह बात कही।

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले UAE में टीम से जुड़ेंगे Coaching staff समेत भारत के ये दो खिलाड़ी

ऑडी इंडिया के प्रमुख बलबीर सिंह ढिल्लों ने पीटीआई-भाषा से कहा कि लक्जरी कार के बाजार को फिर से 2014-15 के स्तर पहुंचने के लिए दो से तीन साल लगेंगे।

अब स्थिति सुधर रही है पर..

उन्होंने कहा कि कोविड-19 की वजह से आई दिक्कतों के बाद अब स्थिति सुधर रही है। हालांकि, हमारी बिक्री में अगले साल ही निचले आधार प्रभाव पर वृद्धि देखने को मिलेगी।

ढिल्लों ने कहा, ”हम सभी कह रहे हैं कि बिक्री बढ़ रही है और धारणा सकारात्मक हुई है। हम भी अगले साल वृद्धि दर्ज करेंगे। आधार प्रभाव काफी नीचे चला गया है। उन्होंने कहा, ”2014-15 में हमने जितनी कारें बेची थीं,

हम उस स्तर पर तत्काल अगले साल नहीं पहुंच पाएंगे। ऐसे में महामारी ने हमें पांच से सात साल पीछे कर दिया है। 2014 में भारत में लक्जरी कारों की बिक्री 30,000 इकाई रही थी। 2015 में यह 31,000 इकाई रही थी।

दो से तीन साल लगेंगे उबरने में

यह पूछे जाने पर लक्जरी कार उद्योग की स्थिति कब तक सुधरेगी, ढिल्लों ने कहा कि निश्चित रूप से यह अगले साल नहीं होगा। हमें उस स्तर पर पहुंचने में दो से तीन साल लगेंगे।

भारत के Luxury Car बाजार की शीर्ष पांच कंपनियों में मर्सिडीज, बीएमडब्ल्यू, ऑडी, जेएलआर और वोल्वो शामिल हैं। इन कंपनियों की बिक्री 2019 में 35,500 इकाई रही थी। 2018 में इन कंपनियों की बिक्री 40,340 इकाई रही थी।

Bigg Boss 14: सलमान खान ने Jasmin Bhasin को कहा- TV की कैटरीना कैफ, एक्ट्रेस ने दिया ये Reaction

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here