किसान सम्मान निधि में हुए ये 6 बड़े बदलाव, सातवीं किस्त आने से पहले जरूर जान लें

webmorcha.com

किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से लाखों सीमांत छोटे किसानों को लाभ पहुंचा रही केंद्र सरकार ने इसमें कुछ बदलाव किए हैं जिनके बारे में आपको जानना जरूरी है.

बता दें कि केंद्र की मोदी Government पीएम किसान योजना की छह किस्तों को किसानों के खातों में भेज चुकी है और अब बारी है सातवीं किस्त की. रिपोर्ट्स के मुताबिक अगले महीने यानी दिसंबर के पहले सप्ताह से किसानों के खातों में 2000 रुपये की किस्त  भेजी जाएगी.

PM kisan : किसानों को 5000 रु और देने की तैयारी, जानिए Scheme

गौरतलब है कि Modi  सरकार देशभर के दस करोड़ से ज्यादा   kiasan को इस योजना के तहत लाभ दे रही है.वैसे तो पहले भी इस के योजना में कई बदलाव किए जा चुके हैं. लेकिन अब इसमें कुछ और बदलाव किए गए हैं.

PM  किसान मानधन योजना का लाभ
एक और बड़ा बदलाव ये हुआ है कि PM  किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहे किसान को अब PM  किसान मानधन योजना के लिए कोई दस्तावेज नहीं देना होगा.

इस योजना के तहत किसान पीएम-किसान स्कीम से प्राप्‍त लाभ में से सीधे ही अंशदान करने का विकल्‍प चुन सकते हैं.

किसान सम्मान निधि से जुड़ा किसान क्रेडिट कार्ड
अब PM  किसान Scheme  से किसान क्रेडिट Card को भी जोड़ दिया गया है. इसके साथ ही अब PM  किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों के लिए केसीसी बनवाना आसान हो गया है.

बता दें कि केसीसी के जरिए किसानों को Bank  से 7 फीसदी की ब्याज दरों पर लोन मिलता है. हालांकि इसमें हर साल पर समय से ब्याज मात्र चुकाने से ब्याज का तीन प्रतिशत किसान को वापस मिल जाता है जिस लिहाज केसीसी पर मात्र किसान को 4 प्रतिशत का ही ब्याज देना होता है.

आधार कार्ड अनिवार्य
बता दें कि किसान अगर PM  किसान सम्मान निधि Scheme  का लाभ लेना चाहते हैं तो आधार का होना जरूरी है. बिना आधार के आप इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते. सभी लाभार्थियों के लिए आधार अनिवार्य है.

जोत की सीमा खत्म
पीएम किसान सम्मान निधि Scheme  के शुरुआत में इसका लाभ केवल वे ही किसान ले सकते थे जिनके पास कृषि योग्य खेती 2 हेक्टेयर या 5 एकड़ थी. लेकिन अब मोदी सरकार ने यह बाध्यता खत्म कर दी है.

PM स्‍वनिधि योजना: 12 लाख से अधिक लोगों ने उठाया फायदा, जानिए Scheme के बारे में सबकुछ

अब अपने आप करें रजिस्ट्रेशन
पीएम किसान सम्मान निधि Scheme  का लाभ लेने के लिए मोदी सरकार ने लेखपाल, कानूनगो और कृषि अधिकारी के चक्कर लागाने की बाध्यता ही खत्म कर दी. अब किसान अपना रजिस्ट्रेशन खुद कर सकते हैं.

खास बात ये है कि आप अपने घर बैठे-बैठे ये कर सकते हैं. अगर आपके पास खतौनी, आधार कार्ड, मोबाइल नंबर और

Bank  अकाउंट नंबर है तो आप pmkisan.gov.in पर जाकर फामर्स कॉर्नर में क्लिक कर अपना खुद अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here