अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित 20 राष्ट्र प्रमुखों की जीवनी के साथ पाणिग्रही की जीवनी, “पीला पंडित से लेकर ओडीएफ मेन तक की कहानी ” गोल्डन बुक आफ अर्थ ” में प्रकाशित

webmorcha.com
विश्वनाथ पाणीग्राही हु

बागबाहरा: मंगलवार 20 अक्टूबर 2020/  स्वर्ण भारत परिवार दिशा फाउंडेशन ,उदय कौशल फाउंडेशन एवम् प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय बुक पब्लिशर्स प्रूडेंट पेंस के संयुक्त तत्वावधान में विश्व के 101 सर्वाधिक प्रेरणा दायी व्यक्तित्व को  “मोस्ट इंस्पायरिंग पीपल ऑफ़ अर्थ” सम्मान भव्य वर्चुअल कार्यक्रम में प्रदान किया गया।  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ,भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित विश्व के 20 देशों के शासन प्रमुखों सहित  केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, रविशंकर सहित अन्य मंत्रियों के साथ 101 विशेष कर्मयोगियों की आत्म कथा “गोल्डन बुक आफ अर्थ में प्रकाशित की गई है । प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की आत्म कथा अनूठे ढंग से प्रकाशित की गई है।

यहां पढ़ें: प्रेरणा। एक मेडिकल ऐसा जो दस साल से पॉलीथिन का कर रखा है बहिष्कार, ग्रीन केयर ने किया सम्मान

webmorcha.com

सामाजिक कार्यकर्ता विश्वनाथ पाणीग्राही की “पीला पंडित से ओडीएफ मेन”  तक की आत्म कथा विशेष परिस्थितियों में प्रेरणादाई कार्य कर चेंज मेकर की भूमिका निभाने वाले वैश्विक चेंज मेकर की गौरव शाली गाथा इस गोल्डन बुक आफ अर्थ में प्रकाशित है। इस भव्य वर्चुअल समारोह में सम्मान प्राप्त करने के पश्चात विश्वनाथ पाणीग्राही ने प्रसन्नता ब्यक्त करते हुए स्वर्ण भारत परिवार दिशा फाउंडेशन, उदय कौशल फाउंडेशन एवं प्रुडेंट पेंस का धन्यवाद ज्ञापन तथा अवॉर्ड तक पाहुंचाने के लिए समस्त प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया सोसल मीडिया तथा प्रत्येक्ष  एवं परोक्ष रूप से सहायता करने वाले सर्वजनों का आभार ब्यक्त किया।

यहां पढ़ें: देश को प्लास्टिक मुक्त करने कोमाखान के 600 विद्यार्थियों ने बहिष्कार करते हुए लिया संकल्प

पाणिग्रही ने बताया कि स्वर्ण भारत की व्यक्तिगत रिसर्च एवम् डेवलपमेंट काउंसिल  तथा प्रूडेंट पेंस की राइटिंग काउंसिल द्वारा अत्यन्त ही कठिन परीक्षण एवं अनेक प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद ज्यूरी ने 101 विश्व प्रेरणादाई लोगो का चयन किया। अवॉर्ड प्राप्त करने के पश्चात अपने उद्बोधन में पाणीग्राही ने विश्व महामारी कोविंद संक्रमण की विशेष चर्चा के साथ मास्क पहनने सोसल डिस्टेंस का पालन करने , सेनिटाइजर का उपयोग तथा साबुन से बार बार हाथ धोने एवम् स्वच्छता का पालन करते हुए  कोरोना संक्रमण को पराजित करने कहा । इस वैश्विक संबोधन में पाणिग्रही ने कहा आइए हम सब मिलकर  इस धरती को जीवन जीने योग्य रमणीय धरा बनाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here